Skip to main content

Posts

Showing posts from January 18, 2015

डीयू में एक कोर्स से दूसरे कोर्स में दाखिला लेना भी आसान, ऑक्सफोर्ड और कैंब्रिज में भी पढ़ सकेगे

कोर्स भी बदल सकेंगेडीयू छात्र ऑक्सफोर्ड-कैंब्रिज में पढ़ेंगे
मान लीजिए यदि डीयू का फिजिक्स ऑनर्स का छात्र ऑक्सफोर्ड या किसी अन्य केंद्रीय विश्वविद्यालय में ऐसा विषय पढ़ना चाहता है जो डीयू में नहीं है तो वहां पढ़ सकेगा। वहां फिजिक्स के कोर्स में उसे जो ग्रेड मिलेंगे उसे डीयू के ग्रेड सिस्टम में जोड़ा जाएगा। 
डीयू में एक कोर्स से दूसरे कोर्स में दाखिला लेना भी आसान हो जाएगा। मान लीजिए बीए पास के छात्र को इतिहास ऑनर्स पढ़ना है तो वो बीच में वह कोर्स चुन सकेगा। अभी छात्र को कोर्स बदलने पर नए सिरे से प्रथम वर्ष में दाखिला लेना पड़ता है। 
डीयू के छात्र ऑक्सफोर्ड व कैंब्रिज जैसे नामचीन विश्वविद्यालयों समेत तमाम केंद्रीय विश्वविद्यालयों में मनचाहे कोर्स कर सकेंगे। इन विश्वविद्यालयों के छात्र भी डीयू में आकर कुछ समय के लिए पढ़ सकेंगे। च्वॉइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम से ऐसा संभव होगा। इसे अकादमिक परिषद में मंजूरी मिल चुकी है। इस सत्र से योजना लागू होगी।मानव संसाधन विकास मंत्रलय, विदेशी विश्वविद्यालयों की तर्ज पर नेशनल क्रेडिट ट्रांसफर सिस्टम लागू करने जा रहा है।


इस बाबत 14 नवंबर को सभ…

अब साधारण मोबाइल से भी जनरल टिकट की तैयारी : पायलट प्रोजेक्ट के तहत मुंबई रेलवे में शुरू हो गई है बिक्री

पायलट प्रोजेक्ट के तहत मुंबई रेलवे में शुरू हो गई है बिक्रीअब मोबाइल से जनरल टिकट की तैयारी
 मोबाइल से आरक्षित श्रेणी के टिकटों की तरह रेल यात्रियों को जनरल टिकट भी मिलेंगे। रेलवे पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर मुंबई सब-अर्बन एरिया में यह सेवा शुरू कर चुका है। जल्द ही चेन्नई मेट्रो में भी इसके शुरू होने की संभावना है। तीसरे चरण में पूरे देश में ई-टिकटों की तरह यात्रियों को बिना कतार लगाए जनरल टिकट मिलने लगेंगे। योजना के तहत टिकटों का प्रिंट लेने के लिए स्टेशनों पर कियास्क लगाए जाएंगे। साथ ही यात्री मोबाइल पर मिले ईआरपी संदेश को भी टिकट चेकिंग स्टॉफ को दिखा सकेंगे। योजना को बड़े पैमाने पर शुरू करने के लिए रेलवे में तैयारी शुरू हो चुकी है। मोबाइल से ही जनरल टिकटों की बिक्री की रेलवे की योजना अब परवान चढ़ रही है। सॉफ्टवेयर, पेमेंट गेट-वे आदि की तैयारी के बाद जनवरी के दूसरे सप्ताह में योजना को मुंबई में शुरू किया है। रेलवे अफसर बताते हैं कि आरक्षित टिकटों की अपेक्षा यूटीएस यानी जनरल टिकटों की बिक्री पेचीदा काम है। इन टिकटों की बिक्री सभी श्रेणी के स्टेशनों पर होती है। इसका दायरा बड…

companies to settle life insurance claims within 60 days : बीमा कंपनियों को क्लेम का निस्तारण 60 दिनों के भीतर ही करना होगा

n a move that will provide relief to millions of claimants, the insurance regulator is looking to make it mandatory for companies to settle life insurance claims within 60 days. Currently, the rules mandate that all claims have to be settled within six months, and most insurers stick to this limit but there have been several cases where it has been breached.
जीवन बीमा का क्लेम लेने के लिए महीनों कंपनी के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है। बीमा कंपनियों को क्लेम का निस्तारण 60 दिनों के भीतर ही  करना होगा। मौजूदा नियमों के तहत क्लेम छह महीने में निपटाना होता है।  
बीमा नियामक इरडा ने बीमा कंपनियों को इस बाबत एक प्रस्ताव भेजा है। हालांकि इरडा चेयरमैन टीएस विजयन ने इस पर कोई टिप्पणी करने से इनकार कर दिया। सूत्रों के मुताबिक इरडा के प्रस्ताव में कहा गया है कि दो माह में क्लेम न देने पर कंपनी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है।  If, following the framing of the new rules, a claim is not settled within 60 days, the beneficiary can take the insurer to court. The Insurance Regulatory …

Facebook users share positive news indirectly and vice versa, in status updates, A Study reveals

With social networking sites becoming a part of our daily lives, people are sharing positive life events indirectly and negative life events directly on Facebook, says a study.

The positive life events like photos, change of job title are shared indirectly and negative life events are shared directly via detailed status updates or wall posts. The researchers analysed how Facebook users share information on important life events related to romantic relationships, health, work and school.

They found that how a person chooses to share such news depends on whether the event is positive or negative. Jennifer Bevan and co-authors from California-based Chapman University focused on significant life events. They reported that the specific event itself did not determine how an individual would share the news on Facebook, rather whether it was positive or negative.

“The understanding of the delicate dance between negotiating disclosure while maintaining some level of privacy is vital,” said Brenda…

WhatsApp will integrate calling features such as Call Mute, Call on Hold, Call via Skype feature to its app

Users are still waiting on WhatsApp’s voice calling feature which has been in the news for the longest time. Though there have been leaked screenshots explaining the feature, recent reports have suggested that WhatsApp will in fact, integrate ‘Call via Skype’ feature to its app.
The leaked screenshots shows calling features such as Call Mute, Call on Hold, Call via Skype and so on. According to this report, WhatsApp will integrate ‘Call via Skype’ feature very soon. Other features will also include ‘Call Hold, ‘Call Mute’, ‘Call Back’, ‘Call Back Message’, ‘Call Me in X minutes’, ‘Call Notifications’, and a separate screen for call logs.

WhatsApp, which has now been acquired by Facebook might also include a Driving Mode feature which could read out messages and calls while the user is driving or is on the ‘Do not Disturb’ mode. WhatsApp seems to be following the same lines as Facebook which has also partnered with Skype to launch it’s video service.

It has been reported earlier that, Wha…

65 साल के भिक्षु ने बर्फीला पहाड़ काटकर बनाई 13 किमी लंबी सड़क

65 साल के भिक्षु ने बर्फीला पहाड़ काटकर बनाई सड़क13 किमी लंबी सड़क लामा ने अपने पैसे और चंदे से तैयार की
कौन कहता है कि आसमां में छेद नहीं हो सकता, एक पत्थर तो तबीयत से उछालो यारो..। इस जुमले को 65 वर्षीय बौद्ध भिक्षु छुटलिम छोंजोर ने सच कर दिखाया है। उन्होंने बड़ी-बड़ी बर्फीली चट्टानों को काटकर 13 किमी सड़क बना दी है, जिससे एक जीप आसानी से निकल सकती है। इस मार्ग के बनने से मनाली से कारगिल की दूरी 97 किमी कम हो जाएगी।
छुटलिम ने अपनी पूरी जमा पूंजी लगाकर और लोगों से चंदा लेकर अपने इस ख्वाब को अंजाम दिया है। मनाली-लेह के इस शार्टकट मार्ग को बनाने का जिम्मा बीआरओ का है, लेकिन छुटलिम ने उसके इस काम को हल्का कर दिया है। चंदे के पैसे से उन्होंने 33 लाख की जेसीबी मशीन और डोजर खरीदा है, जो सड़क निर्माण में लगे हैं। डीजल, चालक और मजदूर उनके अपने हैं। स्थानीय लोग भी उनकी मदद कर रहे हैं। छुटलिम कहते हैं कि सामरिक महत्व का मनाली-लेह मार्ग बर्फ के कारण अक्सर बंद रहता है, इसलिए उन्होंने वैकल्पिक मार्ग पदुम-शिंकुला-दारचा सड़क को खुद ही बनाने की ठान ली है। 
छुटलिम तीन साल से अपने इस सपने…

BSNL to launch Android OS based Smart Landline phones

BSNL, to boost its landline service in the country, is now testing next generation Smart landline phones. These smart land phones will have capability to run mobile applications like Facebook, WhatsApp, banking apps and more.
As per reports, BSNL is currently testing prototype in Hyderabad. BSNL intends to introduce the device across 40 cities in the country. To facilitate the new service, telephones exchange are now in the process of being upgraded to IP based exchanges and which would start operating in March.

The device is supposedly run on Android OS and likelihood of a Windows OS version also in work. Users can connect these Smart land phones to their computer or mobile device. It will also have facility to divert calls to your mobile number with ease.
“BSNL is the only telecom company in India to introduce Smart landline service”, said Mahesh Shukla, Senior GM, BSNL. Tariff details of the service will be announced later.

एचडीएफसी बैंक देता है हिन्दी में मोबाइल बैंकिंग : स्मार्टफोन रखने वाले ग्राहकों के लिए सचमुच बैंक अपनी मुट्ठी में

एचडीएफसी बैंक देता है हिन्दी में मोबाइल बैंकिंग  डिजिटल क्रांति के इस दौर में अमूमन सभी बैंक अपने ग्राहकों को इंटरनेट और मोबाइल पर बैंकिंग सुविधा देने की ओर अग्रसर हैं, लेकिन निजी क्षेत्र के दो अग्रणी बैंकों के बीच इस सुविधा को लेकर कुछ ज्यादा ही होड़ मची है।  पिछले महीने एक बैंक ने जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी जाकर अपने 75 एेप्स की लांचिंग की, तो दूसरे बैंक ने इसी महीने मोदी से ही अपनी कुछ डिजिटल सेवाओं की लांचिंग करवाई। प्रतिस्पर्धा का रूप चाहे जैसा भी हो, लेकिन इससे स्मार्टफोन रखने वाले ग्राहकों के लिए सचमुच बैंक अपनी मुट्ठी में हो गया है।  एचडीएफसी बैंक ने पिछले महीने एक साथ 75 एप्प्स की शुरुआत की है, जिसमें वित्तीय और गैर वित्तीय दोनों ट्रांजैक्शन शामिल हैं। ग्राहक अब अपने स्मार्ट फोन पर अकाउंट बैलेंस की जानकारी से लेकर राशि का लेन-देन, बैंक ड्राफ्ट बनवाना, बिजली-पानी-टेलीफोन या किसी अन्य प्रकार के बिल का भुगतान, बीमा के प्रीमियम का भुगतान, तमाम सुविधाएं ले सकते हैं।  इस पर फिक्स डिपॉजिट हो सकता है, बीमा और म्यूचुअल फंड खरीदा जा…