Skip to main content

Posts

Showing posts from February 14, 2016

कन्फर्म टिकट नहीं, 'टिकट जुगाड़' ऐप है ना!

📌 छात्रों के बनाए मोबाइल ऐप से टिकट कन्फर्मेशन हुआ आसान

दो छात्रों ने एक ऐसा मोबाइल ऐप शुरू किया है जो ट्रेन का कन्फर्म टिकट पाने में आपकी मदद करेगा। अपनी अनूठी प्रोग्रामिंग के चलते यह सीट के लिए वैकल्पिक तरीकों की तलाश करता है।  
'टिकट जुगाड़' नाम के इस ऐप के विकास में साझीदार रुणाल जाजू ने बताया कि टिकट बुकिंग के लिए स्टेशन-वार कुछ कोटा हैं। मिसाल के तौर पर आप स्टेशन ‘क’ से टिकट बुक कर रहे हैं, यह वेटिंग लिस्ट दिखा सकता है, लेकिन जब किसी पिछले स्टेशन से बुक कराते हैं तो हो सकता है कि आपको टिकट मिल जाए। अगर आप ऐसे स्टेशन को खुद से खोजना चाहें तो यह मुश्किल होगा, लेकिन ऐप इसे खुद कर देता है। ऐप को आईआईटी खड़गपुर के सेकंड इयर के छात्र रुणाल जाजू और उनके चचेरे भाई शुभम बलदावा ने बनाया है। बलदावा जमशेदपुर एनआईटी के छात्र हैं। 

 आईआईटी के आंत्रप्रेन्योरशिप सेल ने इस ऐप को सपोर्ट किया है और इस स्टार्ट अप को आईआईटी खड़गपुर के वार्षिक ग्लोबल बिजनेस मॉडल कंपिटिशन में डेढ़ लाख रुपये का इनाम भी मिला है।