Skip to main content

Posts

Showing posts from January 11, 2015

भोजपुरी, मैथिली और मगही में पढ़ने-समझने का मौका बस एक क्लिक पर

कठिन को आसान करने में माहिर 'गूगल' को बीएचयू आईआईटी ने मात दे दी है। किसी ने सोचा भी न था कि इंजीनियरिंग व मेडिकल की कठिन अंग्रेजी किताबें पुरबिया भाषा में भी पढ़ने को मिल सकती हैं। अब अंग्रेजी-हिंदी में ही किताबें पढ़ने की मजबूरी से छुटकारा और अपनी भाषा भोजपुरी, मैथिली और मगही में पढ़ने-समझने का मौका बस एक क्लिक पर सामने होगा।
गौरतलब है कि उत्तर भारत के दो प्रमुख राज्य यूपी और बिहार में भोजपुरी, मगही और मैथिली भाषा का ही बोलबाला है। देशभर में फैले यहां के स्टूडेंट्स को टेक्स्ट अंग्रेजी-हिन्दी में होने से भाषाई दिक्कत का सामना करना पड़ता है। इस समस्या का समाधान करने और टेक्स्ट बुक को टंग लैंग्वेज से जोड़ने की बीएचयू आईआईटी के डायरेक्टर प्रफेसर राजीव संगला की कोशिश आखिरकार रंग लाई है। संगला के मुताबिक, sampark.org.inपर भोजपुरी, मगही और मैथिली भाषा में टेक्स्ट की सुविधा उपलब्ध कराना एक क्रांतिकारी कदम है। इससे हिंदी न्यूज पेपर्स तक का पुरबिया भाषा का इलेक्ट्रॉनिक एडिशन भी क्लिक करते ही कुछ मिनटों में सामने आ जाएगा। अभी तक तेलुगु, तमिल, कन्नड़, मराठी, बंगाली, पंजाबी, उर्दू, हिंदी…

The Google Maps now gives new voice-based lane guidance feature for 20 cities in India.

The Google Maps apps for Android and iOS have been given a new voice-based lane guidance feature for 20 cities in India.

On Thursday, Google announced that the Google Maps app for Android and iOS will now enable users to see and hear voice-based instructions informing them which lane to take while in Navigation mode.
दुनिया की प्रमुख सर्च इंजन कंपनी गूगल ने अपने मैप्स पर 'लेन गाइडेंस' फीचर शुरू किया है. गूगल का यह नया फीचर वाहन चालकों को ‘वॉयस गाइडेड’ संकेत देगा कि उन्हें किस लेन में रहना चाहिए या जाना चाहिए।
Apart from 20 cities - Ahmedabad, Bangalore, Bhopal, Chandigarh, Chennai, Coimbatore, Delhi, Hyderabad, Indore, Jaipur, Kolkata, Lucknow, Mumbai, Mysore, Nagpur, Pune, Surat, Thiruvananthapuram, Vadodara and Visakhapatnam - the lane guidance will also work for major Indian expressways, including the Mumbai-Pune expressway, said company.

Google also announced that from Thursday, drivers in India can enjoy the turn-by-turn, voice-guided instructions in English as well as…

Now New Glasses Help the Color-blind to See Greens, Reds for the First Time

Fashion has always been challenging for Sheila Carter. Like other color-blind people, she limits her wardrobe to hues like blue and black that can be easily mixed and matched.

But a new pair of high-tech eyewear made by EnChroma, a Berkeley, California startup, has changed her worldview.

“Sunsets are amazing,” said the 60-year-old who can now see the full spectrum of the rainbow.

”This morning has been amazing and overwhelming,” wrote Ray D. of Arizona in a testimonial posted on EnChroma’s website. “I was able to look into my wife’s eyes and see the many shades of green and brown – something I cannot think about even now without getting emotional.”

Color also is important for safety because it conveys warning messages on painted street curbs, road signs and traffic lights while driving.

Revlon removing chemicals causing serious health problems from beauty products

After a consumer petition demanded change, global cosmetics giant Revlon announced in December it is removing long-chain parabens and formaldehyde-releasing chemicals from its beauty products.

The petition gathered more than 100,000 signatures and urged Revlon to remove the ingredients. Long-chain parabens can act as estrogens and have been linked to endocrine disruption. Formaldehyde is a potent allergen that has been classified as a carcinogen.

“Long-chain parabens and formaldehyde-releasing chemicals have no place in everyday cosmetic products,” said the Executive Director of the Environmental Working Group, Heather White. “We applaud Revlon for taking these important steps and hope that other companies will follow Revlon’s lead by reformulating their products to remove chemicals that have been linked to serious health problems.”

Revlon announced it had already removed isobutylparaben and isopropylparaben, and is in the process of reformulating a product that contains butylparaben. In…

डिजिटल भारत के तहत 2016 तक देश के सभी गांव ब्रॉडबैंड से जुड़ेंगे: ब्रॉडबैंड से जुड़ने वाला पहला राज्य केरल

डिजिटल भारत के तहत दिसंबर 2016 तक देश के सभी गांव ब्रॉडबैंड से जुड़ जाएंगे। हालांकि इस योजना को पूरा करने की समय सीमा 2015 तक ही थी लेकिन अब यह दिसंबर 2016 तक पूरा हो पाएगा। मार्च 2015 तक टेलीकम्युनिकेशन विभाग नेशनल ब्रॉडबैंड नेटवर्क प्लान के तहत 20 हजार अतिरिक्त गांवों तक ऑप्टिक फाइबर पहुंचा देगा। 
इसका सीधा मतलब यह हुआ कि उन गांवों में ब्रॉडबैंड के माध्यम से लोग इंटरनेट तक पहुंच जाएंगे। पूरा केरल ब्रॉडबैंड से जुड़ने वाला पहला राज्य केरल देश का पहला ऐसा राज्य होगा जहां मार्च के अंत तक सभी गांवों या शहरों में ऑप्टिक फाइबर का जाल बिछा दिया जाएगा। इसके बाद दक्षिणी राज्य कर्नाटक और सीमांध्रा पूरी तरह से ब्रॉडबैंड से लैस होगा।
केंद्रीय संचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पश्चिमी राज्य गुजरात और महाराष्ट्र में भी ऑप्टिक फाइबर बिछाने का काम तेजी से चल रहा है। फाइबर बिछाने की बाधाओं को दूर किया जाएगा। सरकार नेशनल ऑप्टिक फाइबर नेटवर्क योजना के तहत दिसंबर 2016 तक की समय सीमा के अंदर देश के सभी भागों तक ऑप्टिक फाइबर पहुंचाने के लिए प्रतिबद्ध है।
प्रारंभिक समय सीमा के तहत टेलीकम्य…

देश की पहली सीएनजी ट्रेन को मिला ग्रीन सिग्नल : रेवाड़ी से रोहतक के बीच हुई शुरुआत

भारतीय रेलवे के इतिहास में एक आज एक और नया अध्याय जुड़ गया। हरियाणा के रेवाड़ी से रोहतक के बीच देश की पहली सीएनजी ट्रेन को आज ग्रीन सिग्नल मिल गया। रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रिमोट बटन दबाकर सीएनजी ट्रेन की शुरुआत की। 
कार्यक्रम के दौरान योजना गुड़गांव सांसद और रक्षा राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह और रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा भी मौजूद रहे। डीजल और सीएनजी दोनों सिस्टम से लैस यह डीएमयू ट्रेन फिलहाल रेवाड़ी से रोहतक के बीच चलेगी।
सीएनजी ट्रेन की लॉन्चिंग से ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन के साथ ही डीजल की खपत भी कम होगी। प्रभु ने कहा सोलर, पवन और अन्य वैकल्पिक ईंधन का उपयोग करने से पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों पर निर्भरता कम होगी।
डीजल-सीएनजी ट्रेन के लिए रेलवे ने विशेष तौर पर एक 1400 हॉर्सपावर का इंजिन तैयार करवाया है। अनुमान के मुताबिक रेवाड़ी पैसेंजर ट्रेन 81 किमी की दूरी तय करने में करीब सीएनजी का 20 फीसदी से अधिक ईंधन उपयोग करेगी। रेलवे इस ट्रेन के लिए पहले ट्रायल रन कर चुका है।

आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक डीजल की खपत कम करने के लिए अभी और सीएनजी ट्रेन चलाने की यो…

यमुना में पूजन सामग्री-फूलमाला फेंकी तो 5 हजार का जुर्माना : निर्माण सामग्री डालने पर 50 हजार रुपये जुर्माना

यमुना में पूजन सामग्री-फूलमाला फेंकी तो 5 हजार का जुर्माना एनजीटी ने यमुना किनारे निर्माण कार्यों पर भी रोक लगाईसाथ ही निर्माण सामग्री डालने पर 50 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान 2400 मिलियन लीटर सीवेज रोजाना गिरता है यमुना में  22 किमी के सफर में 22 नाले  दिल्ली में यमुना 22 किमी का रास्ता तय करती है और इस सफर में 22 नाले नदी में गिरते हैं। पीने की तो छोड़िए, नदी का पानी नहाने लायक तक भी नहीं बचता। निजामुद्दीन तक पहुंचते ही इसका पानी प्रदूषण के मामले में बेहद खतरनाक हो जाता है।  सी ग्रेड भी नहीं बची यमुना केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक अगर 100 मिमी पानी में 5000 एमपीएन कॉलिफॉर्म हो, तो इसे पीने योग्य माना जाता है। यमुना दिल्ली में पल्ला के रास्ते प्रवेश करती है, यहां पर इसमें कॉलिफॉर्म की मात्रा पिछले साल 7 जनवरी को 43 हजार रही। इसे ट्रीटमेंट के बाद पीने योग्य बनाया जा सकता है और इसे सी ग्रेड में रखा जा सकता है। मगर निजामुद्दीन तक पहुंचते-पहुंचते कॉलिफॉर्म की मात्रा 5.4 करोड़ हो गई, जबकि कालिंदी कुंज में यह संख्या बढ़कर 16 करोड़ हो गई। मतलब डी ग्रेड। पूजा पाठ…

सार्वजनिक जगहों पर सिगरेट पीने पर लगेगा 1000 जुर्माना : न्यूनतम आयु सीमा 18 से बढ़ाकर 21 वर्ष करने का प्रस्ताव

सार्वजनिक जगहों पर सिगरेट पीने पर लगेगा 1000 जुर्माना सिगरेट पीने की न्यूनतम आयु सीमा 18 से बढ़ाकर 21 वर्ष करने का प्रस्ताव
तंबाकू के उत्पादन और इस्तेमाल पर अंकुश लगाने के लिए मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने धूम्रपान के खिलाफ कानून में संशोधन का प्रस्ताव जनता व संबंधित पक्षकारों की प्रतिक्रिया के लिए पेश कर दिया। प्रस्ताव के मुताबिक सार्वजनिक स्थलों पर धूम्रपान पर रोक लगाने के लिए सिगरेट और दूसरे तंबाकू उत्पाद संबंधी संशोधन विधेयक 2015 में जुर्माना पांच गुना बढ़ाने का प्रस्ताव किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि खुदरा सिगरेट स्टिक की बिक्री पर पाबंदी लगाने का प्रमुख कारण सिगरेट स्टिक पर तंबाकू निषेध को लेकर चेतावनी का नहीं लिखा होना है।  किशोरों और युवाओं को धूम्रपान से रोकने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने तंबाकू उत्पादों की खरीद की न्यूनतम आयु 18 से बढ़ाकर 21 साल करने के साथ सार्वजनिक जगहों पर सिगरेट पीने वालों पर 200 रुपये की जगह कम से कम एक हजार रुपये जुर्माना लगाने का फैसला किया है। वहीं, खुली सिगरेट की बिक्री भी पूरी तरह से प्रतिबंधित करने का प्रस्त…

माइक्रोमैक्स के स्मार्टफोन यूरेका YU की बिक्री आज शुरू होगी : 8999 रुपए की कीमत में 4G फोन का बाजार में हल्ला

Micro-max Yu Yureka     Dual Sim, 3G, Wi-Fi    Octa Core, 1.5 GHz Processor    2 GB RAM    16 GB inbuilt memory    5.5 inches, 1280 x 720 px display    13 MP Camera with flash    Memory Card Supported, upto 32 GB    Android, v4.4
आज दो बजे से माइक्रोमैक्स के सायानोजेन मोड ऑपरेटिंग सिस्टम वाले स्मार्टफोन यूरेका YU की बिक्री शुरू होगी। ये फोन 8999 रुपए की कीमत में लॉन्च किया गया है। यह माइक्रोमैक्स का 4G फीचर और सायानोजेन मोड ऑपरेटिंग सिस्टम वाला पहला फोन है।

आज बिक्री के लिए केवल 10,000 हैंडसेट्स -
पहली फ्लैश सेल के लिए माइक्रोमैक्स ने सिर्फ 10000 हैंडसेट्स रखे हैं। इस फोन के रजिस्ट्रेशन 25 दिसबंर तक कराए जा चुके हैं। माइक्रोमैक्स के को-फाउंडर राहुल शर्मा का कहना है कि इस फोन के लिए 3 लाख से ज्यादा लोग रजिस्ट्रेशन करवा चुके हैं।



क्या हैं मुख्य फीचर्स 

* 64 बिट क्वालकॉम स्नैपड्रैगन 615 ऑक्टा-कोर प्रोसेसर
* 4G हैंडसेट
* 5.5 इंच की HD डिस्प्ले स्क्रीन, 80 डिग्री के व्यूइंग एंगल के साथ
* गोरिल्ला ग्लास 3 प्रोटेक्शन ताकि स्क्रैच न लगे, तीन गुना स्क्रैच रेजिस्टेंट
* एडवांस कनेक्टिविटी
* LTE मोब…

ट्रेन से पार्सल बुक कराया है या मालगाड़ी से मंगाया सामान : कहां पर है वह और कब तक आएगा इसकी जानकारी आपके मोबाइल पर

आपने ट्रेन से पार्सल बुक कराया है या मालगाड़ी से सामान मंगाया है। वह कहां पर है और कब तक आएगा। इसकी जानकारी आपको घर बैठे अपने मोबाइल पर ही मिल जाएगी। इसके बारे में आप आनलाइन भी पता कर सकेंगें। रेलवे इस सुविधा को अब अत्याधुनिक करने जा रहा है, इसके लिए बजट भी आवंटित हो गया है।
वर्तमान में सामान मंगाने व पार्सल बुक कराने के लिए रेलवे स्टेशन के चक्कर लगाने होते हैं। पार्सल या मालगाड़ी के आने की सही जानकारी नहीं होने से लोग समय से माल नहीं छुड़ा पाते हैं। लिहाजा पार्सल या माल मंगाने वालों को छह घंटे तक उसे अपने कब्जे में नहीं लेने पर हर घंटे की दर से विलंब शुल्क भी देना होता है।
रेलवे अब आधुनिक पार्सल प्रणाली लागू करने जा रहा है। इस प्रणाली को इंटरनेट व मोबाइल सिस्टम से जोड़ दिया जाएगा। पार्सल बुक करने वालों को दस अंक वाला नंबर आवंटित किया जाएगा। पार्सल को गंतव्य के लिए ट्रेन में लोड करने के बाद कर्मचारी उसका 10 अंक वाला नंबर कम्प्यूटर में फीड कर देगा। ट्रेन जिस स्टेशन पर पहुंचेगी, उसकी जानकारी अॅानलाइन अपडेट होती रहेगी। लिहाजा पार्सल करने वाला व्यक्ति मोबाइल या इंटरनेट पर दस अंक का नंबर डाल …

SBI launched' Quick’ to get account balance on mobile : SBI के खाताधारकों के लिए अच्छी खबर

SBI के खाताधारकों के लिए अच्छी खबर
State Bank of India has launched the ‘SBI Quick’ facility to enable customers to get their balance or a mini statement of their accounts on their mobile phones.
To avail of the facility, customers have to register by sending an SMS (REG<space>account number) to ‘9223488888’ from the mobile number of the customer available in the bank’s records for savings bank/ current account/ overdraft/ cash credit accounts. They will get an instant confirmation through SMS, the bank said in a statement.

मुंबई: भारतीय स्टेट बैंक ने बैंकिंग को और सरल बनाते हुए अपने ग्राहकों के लिए मिस कॉल पर बैलेंस जानने की सुविधा शुरू की है। बैंक की अध्यक्ष अरुंधति भट्टाचार्य ने आज यहां (एसबीआई क्विक) नामक इस सुविधा की शुरुआत की। 
इसके तहत बैलेंस जानने के लिए या पिछले पांच लेनदेन की जानकारी की सुविधा मिस कॉल और एसएमएस के जरिए दी गई है। जबकि कार्ड लॉक करने, होम लोन, कार लोन और एसबीआई क्विक के बारे में जानकारी पाने के लिए एसएमएस भेजना होगा।
एसबीआई क्विक के इस्तेमाल से…

जनता से जुड़ी सेवाएं अब आपकी एक क्लिक पर : अब मोबाइल से ही जन्म, मृत्यु, आय व जाति प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकेंगे

वह दिन दूर नहीं जब आप मोबाइल से ही जन्म, मृत्यु, आय व जाति प्रमाण पत्र प्राप्त कर सकेंगे। यूपी सरकार इसके लिए मोबाइल एप सेवा शुरू करने जा रही है। प्रदेश के आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग द्वारा तैयार किए गए मोबाइल एप 'यूपी वन'  को भारत सरकार से विकसित राष्ट्रीय मोबाइल एप स्टोर पर होस्ट किया गया है। इसके लिंक को प्रदेश के स्टेट पोर्टल पर आम लोगों के उपयोग के लिए उपलब्ध कराया जाएगा।
आईटी के इस युग में छोटे-मोटे काम के लिए लोगों के पास समय की बेहद कमी है। ऐसे में वे चाहते हैं कि उन्हें सभी सेवाएं आसानी से घर बैठे उपलब्ध हो जाएं। मौजूदा समय मोबाइल एप का है। बड़ी-बड़ी कंपनियां एप के सहारे अपनी सेवाएं लोगों को मुहैया करा रही हैं ताकि वे घर बैठे कार से लेकर रोजमर्रा की तमाम चीजें खरीद सकें। राज्य सरकार भी चाहती है कि जनता से सीधे जुड़े विभागों को मोबाइल एप से जोड़ दिया जाए, जिससे वे आसानी से अपना काम कर सकें। इससे विभागों को भी आसानी होगी। प्रमुख सचिव आईटी एवं इलेक्ट्रॉनिक्स जीवेश नंदन ने सभी विभागों के प्रमुख सचिवों, सचिवों व जिलाधिकारियों को निर्देश भेजते हुए कहा है क…